EPFO: कंपनियां अनुबंध पर कर्मचारियों का PF ट्रैक रख सकेंगी

 

EPFO_-कंपनियां-अनुबंध-पर-कर्मचारियों-का-PF-ट्रैक-रख-सकेंगी

 

EPFO: कंपनियां अनुबंध पर कर्मचारियों का PF ट्रैक रख सकेंगी – कंपनियों में, अनुबंध पर कर्मचारियों को काम पर रखने का चलन जोरों पर है। इससे Corona संकट में और बढोतरी हुई है। कंपनियां EPF नियमों के अनुसार Contractor को सभी प्रकार के भुगतान करती हैं, लेकिन ज्यादातर Contractor अपने कर्मचारियों के Provident Fund (PF) जमा नही करता है |

कंपनियों से श्रमिकों को PF नहीं देने पर अब ठेकेदारों से शिकायतें अधिक हो रही थीं। ऐसे में EPFO ने ठेकेदारों पर नजर रखने के लिए कंपनियों को इलेक्ट्रॉनिक सुविधा देने का फैसला किया है, ताकि वे ठेकेदारों पर सख्ती बढ़ा सकें।

ईएफआईएफओ की इस नई पहल से, ठेकेदारों और श्रम प्रदान करने वाली कंपनियों द्वारा दिए गए PF पर नज़र रखना आसान होगा। वर्तमान में, काम में लगी कंपनियों के पास ऐसी कोई सुविधा नहीं है जिससे वे यह जान सकें कि ठेकेदार ने श्रमिकों के EPF Account में राशि जमा की है या नहीं। इसके अलावा, कंपनियों को राशि के लिए ठेकेदारों के शब्दों पर भरोसा करना होगा और जब वे जमा हो जाएंगे।

विशेषज्ञों का कहना है कि कई बार यह बहुत ही असहज स्थिति पैदा करता है क्योंकि कर्मचारी उस कंपनी को दोष देना शुरू कर देते हैं जिसके लिए वे काम कर रहे हैं।

जबकि कंपनियों के पास ऐसे कर्मचारियों के Bank Account आदि के बारे में विशेष जानकारी नहीं होती है। विशेषज्ञों का कहना है कि ईपीएफओ की इस नई सुविधा से ठेकेदारों की मनमानी पर अंकुश लगेगा।

 

कर्मचारियों को मिलेगी सुविधा

सरकार ने श्रम नियमों को कड़ा करते हुए EPF कटौती के साथ अन्य सुविधाएं प्रदान करने का भी निर्देश दिया है। कंपनियां कर्मचारियों को सीधे भुगतान नहीं कर रही हैं क्योंकि अधिकांश काम अनुबंध पर है। ऐसे में EPFO की नई पहल से कंपनियां ठेकेदारों पर नजर रख सकेंगी और समय पर कदम उठा सकेंगी, ताकि कर्मचारियों को परेशानी का सामना न करना पड़े।

 

आपको बस एक क्लिक पर जानकारी मिल जाएगी

कंपनियों को EPFO Portal पर दिए गए फॉर्म में Contractor और उसके संबंधित कर्मचारी का details दर्ज करना होगा। ऐसा करते समय, Contractor और उसके कर्मचारी का पूरी डिटेल्स आ जाएगा। इसमें यह आसानी से पता चल जाएगा कि ठेकेदार ने कर्मचारी के EPF में राशि जमा नहीं की है और यदि जमा कर दी गई है, तो कितनी राशि जमा की गई है। EPF नियमों के अनुसार, कर्मचारी के मूल वेतन का 12 प्रतिशत EPF Account में जमा किया जाता है। कंपनियां भी उतनी ही राशि जमा करती हैं।

आज क्या पढ़ा आपने ?

आज आपने पढ़ा कि कंपनी भी अब कांट्रेक्टर के कर्मचारियों का PF ट्रैक कर सकेगी | उम्मीद करता हूँ आप को आर्टिकल समझ आ गया होगा | आशा करता हूँ आप सभी को यह आर्टिकल “EPFO: कंपनियां अनुबंध पर कर्मचारियों का PF ट्रैक रख सकेंगी पसंद आया तो प्लीज लाइक, शेयर और कमेंट जरूर करे |

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!